Kind Attention:

The postings in this blog are purely my personal views, and have nothing to do any commitment from Government, organization and other persons. The views in general respect all sections of society irrespective of class, race, religion, group, country or region, and are dedicated to pan-humanity. I sincerely apologize if any of my writing has hurt someone's sentiments even in the slightest way. Suggestions and comments are welcome.

Wednesday, 28 April 2021

सफल प्रेरणास्रोत स्कूल ड्रॉप-आउट्स

सफल प्रेरणास्रोत स्कूल ड्रॉप-आउट्स  

        ---------------------------------------------------

पढ़े को कढ़ना जरूरी, ज्ञान का प्रयोगात्मक उपयोग ही सफलता-कुँजी 

विद्या ग्रहण एक सतत आत्म प्रक्रिया है, ज्ञान-कर्म एक दूसरे के पूरक। 

 

अनेक सफल व्यक्तित्व पढ़ता, वे मात्र पुस्तकी-कीड़े अपितु कर्मठ भी 

विद्या-तत्वों की गहन मीमांसा का चित्त धारण, कुछ अपनाने की सोची। 

कि हर स्थल सिद्ध ही, अनेक प्रयोग-त्रुटियाँ पश्चात ही सुपथ चिन्हित 

प्राणी को हर स्थिति में स्वयं को ढ़ालना चाहिए, हर घड़ी नया शिक्षक। 

 

देखो वे कर्मी जिन्होंने प्रारंभ करने में झिझक की, हारकर बैठ गए 

बिल गेट्स ने कॉलेज-शिक्षा मध्य में ही छोड़, उद्यमी होने का पथ पकड़ा। 

सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्र सहवाग, महेंद्र धोनी आदि अनेक खिलाड़ी तो अति-शिक्षित 

विप्रो-संस्थापक अजीम प्रेमजी कॉलेज ड्रॉपआउट, पर भारत के सफल उद्योगपति है। 

 

रिलायंस समूह संस्थापक धीरूभाई अंबानी ने प्रतिभा बावजूद स्कूल में बड़े अच्छे  थे 

कॉलेज बीच में छोड़ एडन में नौकरी ली, आज उनका कुटुंब देश में सबसे अमीर है। 

विख्यात उद्योगपति गौतम अडानी ने गुजरात विश्वविद्यालय, दूजे वर्ष में ही छोड़ दिया था 

पूर्व मिस वर्ल्ड सफल अभिनेत्री ऐश्वर्या रॉय ने कॉलेज छोड़ मॉडलिंग करने की सोची। 

 

दुनिया के सबसे बुद्धिमान अल्बर्ट आइंस्टीन स्कूल में अति-प्रतिभावान माने गए 

प्रसिद्ध महिला बॉक्सर मैरी कॉम ने खेल में बढ़ने हेतु, अध्ययन बीच में ही छोड़ दिया। 

हॉलीवुड में सफल प्रतीक वॉल्ट डिज़नी स्कूल छूटे थे, सेना में भी भर्ती कम उम्र कारण 

महान क्रिकेटर कपिलदेव ने पढ़ाई स्कूल में ही छोड़ दी थी, पर लग्न उन्हें दूर तक ले गई। 

 

जॉन डी रॉकफेलर ने १६ वर्ष वय में पढ़ाई छोड़ी कि जीवन में एक लाख डॉलर कमाऐंगे 

फिर तेल-उद्योग पर अधिपात्य स्थापित किया, मरण से पूर्व खरब डॉलर के स्वामी थे। 

एप्पल सह-संस्थापक वोजनायक संग मिल स्टीव जॉब ने प्रथम सफल पर्सनल कंप्यूटर बनाया

कई विस्मयी उपकरण i-Pad, i-Phone, i-Pen आदि बाज़ार लाए, मात्र मास कॉलेज गए।  

 

किसान-पुत्र स्वयं-निर्माता हेनरी फोर्ड ने अकेले ही अमेरिकी वाहन-उद्योग निर्माण किया 

१७ वर्ष उम्र में मिस्त्री पास एप्रेंटिस बने, बाद में सबसे अमीर सफलतम उद्योगी बने। 

विलियम शैक्सपीयर विषय में स्पष्ट ज्ञान , कि वे कोई औपचारिक शिक्षा पाऐ ही थे 

इतिहास के महानतम लेखक हैं, रोमिओ-जूलियट, मकाबेथ, आदि कई ग्रंथ लिखे। 

 

ओरेकल के लैरी एलीसन एक एकक माता के पुत्र थे, दोबार कॉलेज से ड्राप हुए 

कई बारीकियों में कंप्यूटर प्रोग्रामिंग सीखी, निज सॉफ्टवेयर कंपनी शुरू की। 

माइकेल डैल एक वर्ष ही कॉलेज गए, अन्य काम कंप्यूटर सुधारना  बेचना था 

आज वे बड़ी डैल टेक्नोलॉजीज  के निदेशक हैं, २४ खरब डॉलर के मालिक हैं।  

         

हॉलीवुड के सबसे धनी डैविड ग्रेफेन ने कर्रिएर में स्वयमेव चढ़ाई की है 

ड्रीमवर्क्स रिकार्ड्स शुरू किया, कॉलेज पढ़ाई बीच में ही छोड़ दी थी। 

माइक्रोसॉफ्ट सह-संस्थापक पॉल एलन ने कॉलेज-पढ़ाई बीच में ही छोड़ी  

बाद में बिल संग माइक्रोसॉफ्ट बनाया, आज २१ खरब डॉलर के मालिक है। 

 

एलन डिजिनेरेस हॉलीवुड इतिहास में सफलतम कॉमेडियन-मेज़बानों में से एक है 

न्यू ओरलिंस में एक सेमेस्टर बाद ही ड्रॉपआउट हुई थी, छोटी-मोटी नौकरी कर ली। 

घर पेंटिंग से लेकर वैक्यूम सेल्समेन चाकू से ओएस्टर खोलने तक का काम किया 

बड़ी मेहनत की, टुनाइट शो में प्रवेश, बाद में एलन टास्क शो से TV मल्लिका बनी। 

 

टेड टर्नर कमरे में एक महिला रखने कारण ब्राउन विश्वविद्यालय से निकल दिए गए थे  

पिता की विज्ञापन कं० में काम मिला, टर्नर प्रसारण कं० बनाई CNN News शुरू। 

अमेरिका मैगज़ीन Vogue की संपादक का फैशन डिज़ाइन स्वीकृति में बड़ा नाम है 

कभी उच्च शिक्षा में पाई, शीघ्र ही फैशन प्रकाशन में पिता के निर्णय से गई। 

 

डेव थॉमस सम मुस्कुराते हुए कोई और बर्गर बेच सकता, हाई स्कूल छोड़ दिया था 

हॉबी हाऊस रेस्टोरेंट पर काम किया, १९६९ में वेंडीस फ़ास्ट फ़ूड साम्राज्य खड़ा किया। 

 स्टीव जॉब्स, बिल गेट्स मार्क जुकेरबर्ग, सबने डिग्रियाँ लेने से पूर्व ही कॉलेज छोड़ा था

पीटर थील छात्रों को कॉलेज से हटने की बात करते, लाख डॉलर तक  छात्रवृति देते। 

 

कंप्यूटर हैकर जूलियन असांजे ने मेलबोर्न विश्वविद्यालय में गणित की पढ़ा 

मात्र १९ वर्ष में ही ड्रॉपआउट हो गए, और विकीलीक्स की स्थापना की। 

बिल गेट्स मात्र वर्ष हारवर्ड गए, छोड़कर माइक्रोसॉफ्ट की स्थापना की 

सफलतम हारवर्ड ड्रॉपआउट माने जाते, आज दुनिया के समृद्धतम व्यक्ति। 

 

इवान विलियम्स क्लार्क्स नेबरास्क में जन्में, उसका परिवार खेती करता था 

उन्होंने मात्र सेमेस्टर पकल्लेगे में पढ़ाई की थी, फिर बीच में छोड़ दी। 

गूगल आने से पूर्व विलियम्स हेव्लेट-पैकर्ड इंटेल में फ्रीलांस प्रोग्रामर थे 

बाद में गूगल भी छोड़ दिया और ट्विटर बनाया, और एक खरबपति बना। 

 

हारवर्ड ड्रॉपआउट जुकेरबर्ग ने फेसबुक बनाईविश्व के ५वें समृद्धतम व्यक्ति 

कॉलेज छोड़ने हेतु बस मिनट सोचा, ऐसा 'फेसबुक इफ़ेक्ट' पुस्तक में लिखा। 

जॉन कॉम ने स्नातक से ही पूर्व ही कॉलेज छोड़ दिया, बाद में याहू में काम किया 

और तब अति अविश्वसनीय लोकप्रिय संदेशवाहक WhatsApp आविष्कृत किया। 

 

ट्रेवल कं० Uber स्थापना से पूर्व, ट्रैविस कालानिक ने ULCA से इंजीनियरिंग पढ़े 

बाद में स्नातक होने से पूर्व ही छोड़ दिया, सर्च इंजिन SCOUR में काम करने हेतु। 

कॉलेज ड्राप करने से पहले  जॉन मैकेय ने, धर्म दर्शन का अध्ययन किया था  

उधार माँग 'सेफर वे' हेल्थ फ़ूड शुरू किया, आज Whole Foods नाम से प्रसिद्ध। 

 

रिचर्ड ब्रानसन ने १५ वर्ष वय में स्कूल छोड़ा, स्वयं छात्र होते भी The Student मैगज़ीन शुरू की 

लेकिन Virgin प्रथम रिटेल बिज़नेस सेलिंग रिकॉर्ड था, . खरब डॉलर का साम्राज्य खड़ा किया। 

उनका सुझाव 'तुम नियम पालन करने से नहीं, अपितु करने से नीचे गिरने से ही सीखते हो। 

 

 ब्रिटिश प्रधानमंत्री सर जॉन मेजर को १६ वर्ष वय में स्कूल छोड़ना पड़ा उच्च शिक्षा पूर्ण हुई 

इसके बदले यंग कंसर्टिव ब्रिक्सटोन ज्वाइन किया, २१ वर्ष की आयु में लैम्बेथ कौंसिल में जीते। 

स्थानीय सरकारों से होते १९७९ में केंद्रीय सरकार में आए, बाद में १९९०-९७ तक प्रधानमंत्री बने। 

डोबराह मेडेन जो ड्रैगनस स्टॉल सफल उद्योगपति, ने मात्र १६ वर्ष की आयु में स्कूल छोड़ दिया 

एक फैशन हाऊस में नौकरी की, ग्लास सिरेमिक्स आयात किया, आज ४० अरब के मालिक हैं। 

 

अमेरिकी राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन मात्र एक वर्ष स्कूल जा सके, आप ही Trigonometry सीखी 

घर पर ही पढ़ाई की, बिना औपचारिक पढ़ाई के भी ३५ वर्ष आयु में वकालत शुरू कर दी। 

Fox प्रसारण कं० अध्यक्ष बैरी डिलर खरबपति, हॉलीवुड मुग़ल इंटरनेट मैवेन दे भी उदाहरण 

इनकी भी कोई अधिक औपचारिक पढ़ाई हुई, पर आज वे सफल व्यक्ति हैं। 

 

बेंजामिन फ्रेंक्लिन मात्र घर में ही पढ़े, एक अन्वेषक, वैज्ञानिक, लेखक, उद्यमी थे 

लाइफ सक्सेस प्रकाशन के बॉब प्रॉक्टर प्रेरणादायी वक्ता बेस्टसेलर लेखक हैं। 

मात्र दो मास ही स्कूल जा पाए थे, लेकिन आत्म-विश्वास कारण वे सफल हुए 

कोका कोला के संस्थापक चार्ल्स कल्पेपर मात्र एक स्कूल ड्रॉपआउट थे। 

 

क्रिस्टोफ़र कोलोम्बस मुख्यतया घर पर ही पढ़े थे, बाद में अमेरिका अन्वेषण किया था 

केंटुकी फ्राइड चिकेन संस्थापक Col. Harlexn Sanders स्कूल छूटे थे, पत्राचार से पढ़ाई की। 

रीडर्स डाइजेस्ट संस्थापक प्रकाशक De Witt Wallace का एक वर्ष बाद ही कॉलेज छूट गया 

Rolls Royce संस्थापक खरबपति कार डिज़ाइनर फ्रेडरिक हैरी रॉयस स्कूल ड्रॉपआउट थे। 

 

इसी तरह से अनेकानेक उदाहरण हैं जिन्होंने मात्र अपनी प्रतिभा, लग्न मेहनत में विश्वास रखा 

और जिंदगी में अभूतपूर्व सफलता पाई, उदाहरण हर तरफ हैं बस शिक्षा लेने की आवश्यकता। 

 

 पवन कुमार,

२८ अप्रैल, २०२१ समय १५:५९ अपराह्न 

(मेरी महेंद्रगढ़ डायरी दि० २३ २४ अप्रैल, २०१९ समय :२६ बजे प्रातः से

    2 comments:

    1. बेहतरीन👌
      एक उदाहरण रामानुजन भी।

      ReplyDelete
    2. जी हाँ धन्यवाद। रामानुजन जी एक उत्तम उदाहरण हैं । ग़रीबी में जन्म व जीवन गुज़ारने के बावजूद एक गणित genius थे ।

      ReplyDelete